Free songs
BREAKING

गौवंश के संरक्षण पर, सीधी भर्ती आईएएस पर प्रमोटी भारी, कल योगी लें सकते हैं डीएम की क्लास  

#आईएएस वीक का पहला दिन, अफसरों की गुटबाजी आयी सीएम के सामने.

#सीएम ने अफसरों को दिया नसीहत कि अधिकारी जनता का बल बनें, बला नहीं.     

#पहले पीसीएस बनाम आईएएस=प्रमोशन रहा तो अब आईएएस वीक में “सीधी भर्ती बनाम प्रोन्नत आईएएस=प्रजेंटेशन” 

#सीधी भर्ती के आईएएस अफसरों के प्रजेंटेशन को प्रोन्नत पाए आईएएस अफसर ने बताया कापी तो सीडीओ ने किया समर्थन.

#योगी के आदेश पर, प्रजेंटेशन की तय सूची में नाम के बिना जिलाधिकारी ललितपुर ने दिया गोवंश पर प्रजेंटेशन.    

अफसरनामा ब्यूरो  

लखनऊ : प्रमोशन को लेकर पहले से चला आ रहा पीसीएस बनाम आईएएस का मसला आईएएस वीक के पहले दिन सीधी भर्ती बनाम प्रोन्नत आईएएस अफसरों का हो गया. आईएएस वीक का पहला दिन सीधी भर्ती के आईएएस अफसरों के लिए ठीक नहीं रहा. शासन के अफसरों ने आईएएस वीक के पहले दिन सीएम को खुश करने के लिए प्रजेंटेशन का विषय गोवंश चुना और इसके प्रजेंटेशन के लिए 3 महिला आईएएस जिलाधिकारियों को सेलेक्ट किया. लेकिन उनकी इस योजना पर  प्रोन्नत आईएएस अफसरों ने पानी फेर दिया. पहले मुख्यमंत्री से मिले समय के कैंसिल हो जाने के बाद आखिर 1 फरवरी को आईएएस वीक की शुरुआत तो हुई, लेकिन अच्छी नहीं रही. ताजा चल रही खबरों के मुताबिक शनिवार को 12 बजे सीएम योगी सभी जिलाधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग करेंगे, हालांकि अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है लेकिन सियासी हलकों में इसको मुख्यमंत्री की नाराजगी से जोड़कर देखा जा रहा है.

सूत्र बताते हैं कि चली आ रही अफसरशाही की गुटबाजी शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने गोवंश पर चल रहे प्रजेंटेशन को लेकर खुलकर एकबार फिर से सामने आ गयी. जिसके बाद सीएम योगी ने सबके सामने प्रमोटी आईएएस अफसर को तरजीह देते हुए उनसे प्रजेंटेशन लिया. जबकि पहले से प्रस्तावित प्रजेंटेशन के एजेंडे में सीधी भर्ती की जिलाधिकारी बनी 3 महिला आईएएस अधिकारियों का नाम था.

शुक्रवार को आईएएस वीक के पहले दिन फिरोजाबाद और इटावा जिले की महिला जिलाधिकारियों सहित कुल 3 अफसरों द्वारा गोवंश पर प्रजेंटेशन दिए जाने का कार्य प्रस्तावित था. गोवंश पर इन अफसरों का प्रजेंटेशन चल ही रहा था कि जिलाधिकारी ललितपुर मानवेन्द्र सिंह जोकि प्रमोटी आईएएस हैं, ने खड़े होकर प्रजेंटेशन को उनके यहाँ से कापी किये जाने की बात कही. उनका कहना था कि यह कार्य तो हमारे जिले में हो रहा है इसमें नया क्या है. उनकी इस बात का समर्थन अलीगढ के सीडीओ दिनेश चन्द्र द्वारा किया गया कि उनके यहाँ भी इस तरह का कार्य पहले से ही चल रहा है, सीडीओ दिनेश चन्द्र भी अभी हाल ही में पदोन्नति पाकर आईएएस बने हैं. इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डीएम फिरोजाबाद का प्रजेंटेशन समाप्त होते ही मुख्यमंत्री ने ललितपुर के जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह को बुलाकर प्रजेंटेशन देने को कहा.

इसके अलावा सूत्रों  का कहना है कि अगले दिनों में होने वाले तबादलों की सुगबुगाहट शुरू होते ही जिलों में तैनाती की चाहत रखने वाले अफसर आईएएस वीक में कम और अपने आकाओं की गणेश परिक्रमा में ज्यादा लगे थे. जानकारों की मानें तो इन्हीं सब चीजों से नाराज मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग करने के बहाने से उनके फील्ड में भेजने का फैसला लिया जबकि पहले से ही इन अफसरों का 3 फरवरी तक का कार्यक्रम फाईनल था. कुल मिलाकर आईएएस वीक के नाम पर 3 दिन तक चलने वाली अफसरों की जोड़-जुगत और मस्ती पर मुख्यमंत्री की नाराजगी भारी पड़ी.

afsarnama
Loading...
Scroll To Top