Free songs
BREAKING

आखिर क्यों हटाये गये डीएम बरेली, और कौन अफसर है पत्नी के लिए टिकट की तलाश में

असफरनामा ब्यूरो

लखनऊ : भारत निर्वाचन आयोग ने शनिवार को तीन जनपदों के जिला निर्वाचन अधिकारी अर्थात जिलाधिकारी एवं दो जनपदों के पुलिस अधीक्षक को तत्काल प्रभाव से स्थानान्तरित कर दिया. बरेली जिले के जिलाधिकारी के बरेली से हटाए जाने से चर्चाओं का बाजार भी गर्म हो गया और अफसरशाही में इसकी वजह तलाशी जाने लगी. साथ ही पश्चिम में ही तैनात एक अफसर जोकि अपनी पत्नी को टिकट दिलाने को लेकर अपना दल के संपर्क में हैं, का नाम भी काफी चर्चा में है.

मिली जानकारी के मुताबिक़ बरेली से हटाए गये डीएम की पत्नी सक्रिय राजनीति में हैं और वह फिलहाल जिला पंचायत सदस्य हैं. पत्नी को भाजपा के टिकट पर विधानसभा भेजने की चाहत के चलते और विपक्षियों की शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने उनको बरेली के जिलाधिकारी पद से तत्काल प्रभाव से हटा दिया. योगी सरकार में लगातार जिलों में तैनात रहने वाले डीएम बरेली को फिलहाल माया मिली न राम, अब आगे पत्नी को टिकट मिलता है या नहीं यह तो वक्त ही बताएगा.

कुछ ऐसी ही राजनीतिक महत्वाकांक्षी पश्चिम के एक जिले में जिलाधिकारी पद पर तैनात एक अफसर और बताये जा रहे हैं. जोकि पत्नी को पहले नौकरी से इस्तीफ़ा दिलवाकर अपने स्कूलों के प्रबंधन के कार्य में लगाये और अब वह अपनी पत्नी को अपना दल से टिकट दिला विधानसभा भेजने के प्रयास में बताये जा रहे हैं.

बताते चलें की शनिवार को जनपद फिरोजाबाद, बरेली, कानपुर नगर, के जिलाधिकारी को चुनाव आयोग ने स्थानांतरित कर दिया और जनपद फिरोजाबाद एवं कौशाम्बी के पुलिस अधीक्षक को तत्काल प्रभाव से हटा दिया. उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने यह जानकारी देते हुए बताया कि हटाये गये अधिकारियों के स्थान पर अब फिरोजाबाद जनपद के नये जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी सूर्यपाल गंगवार, बरेली जनपद के जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी शिवाकांत द्विवेदी तथा कानपुर नगर के जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी सुश्री नेहा शर्मा को नियुक्त किया गया है. इसके अलावा दो जनपदों में फरोजाबाद एवं कौशाम्बी के पुलिस अधीक्षकों को भी बदल दिया गया है. अब फिरोजाबाद जनपद के पुलिस अधीक्षक आशीष त्रिपाठी एवं कौशम्बी जनपद के पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा को बनाया गया है.

afsarnama
Loading...
Scroll To Top