Free songs
BREAKING

एटा की जवाहर परियोजना की सरिया चोरी में जीएम गुप्ता और जेई सुरेंद्र की मिली भगत की बात आ रही सामने  

#गुनाहों की पुरानी साझेदारी है GM यूएस गुप्ता और JE सुरेंद्र की.

#कर्नाटक से आ रही सरिया की चोरी करा रहे थे योगी सरकार के ये काबिल अफसर.

#चेयरमैन आलोक कुमार ने मामले की जांच हेतु निदेशक परियोजना निर्माण सुबीर चक्रवर्ती को भेजा एटा.

#चक्रवर्ती इस पूरे मामले को Gourav Singh JE और Gourav Ken AXEN के सर मढने की तैयारी में.

अफसरनामा ब्यूरो 

लखनऊ : “घर को लगा दी आग घर के ही चिराग ने” वाली कहावत एटा की जवाहर परियोजना की सरिया चोरी की घटना को चरितार्थ कर रही है. जवाहर तापीय बिजली परियोजना में हो रही करोड़ों की यह चोरी किसी ठेकेदार या सप्लायर ने नही बल्कि वहीं के महाप्रबंधक और जेई मिलकर करा रहे थे. अपने आप में सरकारी खजाने की यह लूट आपके होश उड़ा सकती है जहां बिजलीघर बनने के लिए ट्रकों में आ रही सरिया को जीएम और जेई कहीं और उतरवा लेते थे.

एटा में नेशनल हाइवे पर दिन दहाड़े जवाहर तापीय विद्युत परियोजना का करोड़ो रूपये के सरिया की चोरी का मामला एटा के एसडीएम सदर महेंद्र सिंह तंवर द्वारा पकडे जाने के बाद जहां डीएम सख्त हैं और जांच शुरू की जा चुकी है वहीँ इस प्रकरण का मुख्यमंत्री सचिवालय द्वारा भी संज्ञान लिये जाने की जानकारी है. चोरी के इस खेल में जवाहर तापीय विद्युत परियोजना का निर्माण कर रही दूसान कंपनी के कई बड़े अधिकारियों सहित विभाग के भी दो अधिकारी GM US Gupta और JE Surendra Singh का नाम पूरे प्रकरण में सामने आ रहा है.

लूट की इस घटना की जांच हेतु बिजली विभाग के चेयरमैन आलोक कुमार ने बुधवार को मामले की जांच हेतु निदेशक परियोजना निर्माण सुबीर चक्रवर्ती को एटा भेजा. सुबीर चक्रवर्ती के दौरे को एकदम गोपनीय रखा गया और उनके पहुँचने की भनक किसी को भी नहीं थी. प्रत्यक्षदर्शियों द्वारा मिली जानकारी के मुत्ताबिक जांच अधिकारी सुबीर चक्रवर्ती को मौके पर लोगों द्वारा तमाम बातों के अलावा बताया गया कि JE और GM एक दूसरे के पूरक हैं. इनकी घनिष्ठता का आलम यह है कि JE Surendra जब जवाहरपुर परियोजना के GM US Gupta के ऑफिस में बैठा होता था तो उस समय GM से मिलने आने वाले Executive Engineer को भी गुप्ता बाहर बैठा देता था. ऐसे में ये चोरी पूरी तरह से पूर्व नियोजित और GM US Gupta और JE  सुरेंद्र सिंह की दुरभिसंधि बना कर की गयी है. यह बाते अब  एटा मे हर अधिकारी कर्मचारी के अलावा आम लोगों की जुबान पर है. जानकारी में तो यह भी आ रहा है कि जांच अधिकारी सुधीर चक्रवर्ती इस पूरे प्रकरण में जाने अनजाने में अन्य पर दोष मढने की तैयारी में हैं. जांच कर रहे चक्रवर्ती इस पूरे मामले को Gourav Singh JE और Gourav Ken AXEN के सर मढने की तैयारी में हैं जिसकी भनक अभियंताओं को है और अब इस बात को लेकर वो भी लामबंद होने की तैयारी में हैं.

इसके अलावा GM और JE की घनिष्ठता और कारनामों की तमाम अन्य जानकारियाँ भी सामने आ रही हैं. JE Surendra Singh और जवाहरपुर तापीय परियोजना के GM US Gupta लखनऊ स्थित रिवर विव्यू अपार्टमेंट गोमती नगर में पडोसी हैं और दोनों परिवारों में का आपसी रिश्ता भी पारिवारिक है. जानकारी में तो यह भी आया है किGM US Gupta ने ही Surendra singh को जवाहरपुर तापीय परियोजना में तैनाती दिलाने में मदद की थी. दोनों के पारिवारिक के साथ ही साथ व्यापारिक रिश्ते भी हैं और चोरी के इस खेल में विभाग के अन्दर रहकर ये दोनो सहयोगी रहे हैं. चल रही खबरों के अनुसार पूछताछ में ट्रकों को रोकने के लिए जिस ALTO कार का जिक्र ट्रक के ड्राईवर ने किया है वह किसी और की नहीं बल्कि JE Surendra Singh की ही है.

JE Surendra Singh की इसके पहले तैनाती हरदुआगंज में रही थी और वहां पर भी इसका नाम ट्रक से माल चोरी कराए जाने को लेकर चर्चा में आया था. बाद में JE Surendra Singh का GM US Gupta ने तबादला करवाया और जवाहर तापीय योजना एटा लेकर आये. सूत्रों की मानें तो GM US Gupta ही चोरी के इस पूरे खेल का सरगना है, बाकी सब प्यादे हैं. चोरी का यह पूरा खेल बिना जीएम यूएस गुप्ता की सरपरस्ती के हो ही नहीं सकता. दोनों के लिए चोरी का यह खेल कोई नया नहीं है. हरदुआगंज में जब US Gupta, Executive Engineer Stores थे, तब भी यह Surendra Singh उनका JE था और यह चोरियां करवाने और स्क्रैप बिकवाने में गुप्ता की मदद करता था.

अब जब इन दोनों की तैनाती जवाहर तापीय परियोजना में है तो एक बार फिर नेशनल हाइवे 91 पर दिन दहाड़े जवाहर तापीय विद्युत परियोजना का करोड़ो रूपये की सरिया की चोरी का मामला प्रकाश में आया है. सरिया चोरी के इस खेल में जवाहर तापीय विद्युत परियोजना का निर्माण कर रही दूसान कंपनी के कई बड़े अधिकारियों की मिलीभगत भी सामने आ रही है. बताते चलें कि एटा जिले में बन रही प्रदेश सरकार की सबसे बड़ी विद्युत परियोजना जवाहर तापीय विद्युत परियोजना के लिए कर्नाटक के बेल्लारी से आने वाला लोहे का सरिया परियोजना में पहुचने से पहले ही विभागीय अधिकारियों की मिली भगत से एक बड़े गैंग द्वारा एटा के नेशनल हाइवे 91 पर लूटे जाने का खुलासा हुआ है. अभी तक कुल 16 ट्रकों को पकड़ा गया है जिनसे सरिया की चोरी की जा रही थी और  6 लोगो को पुलिस ने इस मामले में हिरासत में लिया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार एटा में बन रही 10 हजार करोड़ रुपये से अधिक की लागत की 1320 मेगावाट छमता की जवाहर तापीय विद्युत परियोजना के लिए बेल्लारी कर्नाटक से आने वाली सरिया के ट्रकों से रास्ते मे जबरन रोककर उनमे से सरिया चोरी करने का काम किया जा रहा था. एक ट्रक से करीब 2 टन तक सरिया चोरी से रास्ते मे पहले से बने गोदाम में चोरी से उतारवाया जाता था. सरिया की इस चोरी में एटा में जवाहर तापीय विद्युत परियोजना के कई अधिकारी भी शामिल है जिनकी मिली भगत से चोरों के गैंग द्वारा करोड़ो रूपये की सरिया की चोरी को अंजाम दिया जाता हैं.

afsarnama
Loading...
Scroll To Top