Free songs
BREAKING

उत्तर प्रदेश के 23 पीसीएस अफसर बने आईएएस तो 6 का लिफाफा हुआ बंद

#निदेशक सूचना शिशिर,विशेष सचिव CM शुभ्रांत शुक्ला, CS के स्टाफ अफसर विशाल भारद्वाज  आदि बने IAS.

#जितेंद्र बहादुर सिंह-प्रथम, उदयीराम, भीष्मलाल वर्मा, हरिश्चंद्र, घनश्याम सिंह और राजेंद्र सिंह का लिफ़ाफ़ा हुआ बंद.  

अफसरनामा ब्यूरो  

लखनऊ : दिल्ली में 15 मई बुधवार को विभागीय पदोन्नति समिति की हुई बैठक में संघ लोक सेवा आयोग ने पीसीएस सेवा के 23 अफसरों की पदोन्नति को मंजूरी देकर आईएएस संवर्ग में शामिल कर दिया जबकि 6 अफसरों को प्रोविजनल पदोन्नति दी गई है, विभिन्न मामलों में अनुशासनिक अथवा विभागीय कार्यवाही लंबित होने की वजह से इनका लिफाफा बंद रखा गया है. इनमें से तीन अफसरों की जांच लंबित होने से पदोन्नति का लिफाफा पहले से ही बंद चल रहा है. इसके अलावा एक अधिकारी की विभागीय कार्यवाही समाप्त होने के बावजूद पदोन्नति नहीं दी गई है. मिली जानकारी के मुताबिक़ समिति ने जितेंद्र बहादुर सिंह-I, उदयीराम, भीष्मलाल वर्मा के खिलाफ विभागीय कार्यवाही अब भी जारी होने से इनकी पदोन्नति के लिफाफे फिर से बंद रखने की संस्तुति की है.

तीन पीसीएस अफसरों हरिश्चंद्र, घनश्याम सिंह और राजेंद्र सिंह के खिलाफ विभागीय कार्यवाही लंबित होने से इनका भी प्रोविजनल पदोन्नति की संस्तुति के साथ लिफाफा बंद रखा गया है. बताते चलें कि पीसीएस अफसर हरिश्चंद्र आगरा में तैनात थे और इनका परिवार नोएडा में रहता था. नोएडा में परिवार का  पड़ोसी  कर्नल से विवाद हो गया और मामला काफी चर्चा में रहा था. उक्त मामले में FIR होने के चलते इनका लिफाफा बंद हो गया है. इस प्रकरण में पीसीएस संघ ने भी नाराजगी व्यक्त किया था और बात सीएम तक पहुंची थी.

इसके अलावा घनश्याम सिंह ने एडीएम भू/आ गाजियाबाद में तैनाती के दौरान अपने बेटे के नाम जमीन खरीदने और उसी पर मुआवजा देने के आरोप में निलंबित चल रहे हैं जिसके चलते इनका भीं लिफाफा बंद हुआ है.

वहीँ कानपुर नगर में तैनाती के दौरान राजेंद्र सिंह का सामान उनके सरकारी आवास से डीएम कानपुर नगर रोशन जैकब ने सडक पर फिकवा दिया था जिसके बाद राजेंद्र सिंह डीएम के खिलाफ कोर्ट चले गए थे और डीएम पर अभद्रता करने और अपना सामान चोरी होने का आरोप लगाया था. फिर इनका तबादला निदेशक हथकरघा के पद पर हो गया था. फिलहाल यह मामला कोर्ट में है जिसके चलते इनका भी लिफाफा बंद हो गया है.

आयोग की संस्तुतियां अब डीओपीडी को भेजी जाएंगी, डीओपीडी की अधिसूचना जारी होते ही प्रदेश सरकार पदोन्नति आदेश जारी कर देगी. प्रमोशन पाए इन अफसरों में 1997 बैच के निदेशक सूचना शिशिर, शुभ्रांत शुक्ला, विशेष सचिव मुख्यमंत्री, और मुख्य सचिव के स्टाफ अफसर विशाल भारद्वाज का नाम शामिल है. इसके अलावा प्रवीण मिश्रा, मनोज कुमार, देवीशरण उपाध्याय, डा. चंद्रभूषण, बृजराज सिंह यादव, सुरेंद्र प्रसाद  सिंह, महेंद्र वर्मा,  राहुल सिंह, अनीता वर्मा सिंह, जितेंद्र प्रताप सिंह, आलोक सिंह, धर्मेंद्र प्रताप सिंह, डॉ. विजय कुमार सिंह, सत्य प्रकाश पटेल, डॉ. राकेश वर्मा, अच्छेलाल सिंह यादव, धीरेंद्र सिंह सचान, डॉ. कंचन शरण, रघुवीर व डॉ. वंदना वर्मा शामिल हैं.

बैठक में संघ लोक सेवा आयोग व केंद्रीय कार्मिक व पेंशन मंत्रालय के अधिकारियों के अलावा प्रदेश के मुख्य सचिव डॉ. अनूप चंद्र पांडेय, राजस्व परिषद के चेयरमैन प्रवीर कुमार और अपर मुख्य सचिव (एसीएस) नियुक्ति एवं कार्मिक मुकुल सिंघल भी शामिल रहे.

afsarnama
Loading...
Scroll To Top